रविवार, 13 सितंबर 2020

Starlink क्या है?

हैलो दोस्तों Smart Hindi People में आपका है। क्या आप लोग जानते है आज भी कितने सारे लोग बिना इंटरनेट के रह रहे है। या इतनी धीरे इंटरनेट चला रहे है जो आज से बहुत साल पहले होता था। 

आज की इस तेज़ दुनिया में इंटरनेट का भी तेज़ होना बहुत जरुरी है वरना आप पीछे रह सकते है। ख़ास तौर पर अगर हम भारत में देखे तो बहुत सारे लोगो को आज भी अच्छा इंटरनेट नहीं मिल पा रहा है। 

भारत की 70 % जनसँख्या गाँव में रहती है, और गाँव में इंटरनेट पहुँचाना बहुत महंगा पड़ता है क्यूंकि गाँव में सब लोग इंटरनेट लेना नहीं चाहते है जिसकी वजह से कंपनी को घाटा होने का जायदा चांस होता है। इसलिए कम्पनिया गाँव में तेज़ इंटरनेट नहीं देती है। 

लेकिन अब ये दिक्कत ख़तम होने वाली है। क्यूंकि अब SpaceX की सब्सिडरी कंपनी Starlink पूरी दुनिया में सैटेलाइट के जरिये इंटरनेट प्रदान करेगी। मतलब अब गाँव में भी जो तेज़ इंटरनेट लेना चाहता है वो आसानी से ले पायेगा।

तो चलिए जानते है स्टारलिंक क्या है?

स्टरलिंक इमेज

स्टारलिंक क्या है?

SpaceX कंपनी ने एक प्रोजेक्ट लांच किया था जिसमे वो पूरी दुनिया को सैटेलाइट की मदद से इंटरनेट देना चाहते थे। इस प्रोजेक्ट में 42000 सॅटॅलाइट लांच की जाएँगी जिनमे से 12000 पृथ्वी की लोअर ऑर्बिट में छोड़ी जाएँगी। ये 12000 सॅटॅलाइट पृथ्वी से 550 km की ऊँचाई पे छोड़ी जाएँगी। जिनके जरिये पूरी धरती पे हाई स्पीड इंटरनेट मौजूद हो जायेगा।

ये बहुत ही बड़ा प्रोजेक्ट है। क्यूंकि इतनी सारी सैटेलाइट बना के लांच करना कोई आसान काम नहीं है। इसमें बहुत पैसे भी लगने वाले है क्यूंकि एक सॅटॅलाइट बना के लांच करने में ही करोड़ो रुपये लग जाते है। 

अगर हम पूरे प्रोजेक्ट की कॉस्ट देखे तो ये १० बिलियन डॉलर से भी जायदा का प्रोजेक्ट है। मतलब इंडियन करेंसी में इसकी कीमत तकरीबन 70,000 करोड़ के लगभग होएगी। 

स्टरलिंक का इंटरनेट प्लान कितने का होयेगा?

वैसे तो स्टरलिंक ने अभी तक इंटरनेट प्लान की प्राइसिंग के बारे में सीधे सीधे नहीं बोला है। पर कंपनी के प्रेसिडेंट ने एक इंटरव्यू में हिंट देते हुए $80 हर महीने की बात कही थी। अगर हम देखे तो इंडियन करेंसी ये तकरीबन 5000 रुपये महीने के होएंगे।

ये रुपये हमे देखने में अभी जरूर जायदा लग रहे होएंगे पर ये किसी भी कंपनी के प्लान से सस्ता होने वाला है स्टरलिंक के हिसाब से। और कम्पनिया इससे जायदा पैसे लेके कम इंटरनेट स्पीड देती है, वहीँ स्टरलिंक कम पैसो में जायदा स्पीड देने वाली है। तो मतलब जिस तरह हम इंटरनेट इस्तेमाल करते है वो 2022 तक बदलने वाला है।

स्टारलिंक का इंटरनेट कब तक आएगा?

Elon Musk के हिसाब से स्टरलिंक का इंटरनेट बीटा फेज में 2020 के आखिरी तक लांच हो जायेगा पर यूनाइटेड स्टेट्स और कनाडा के लिए बस। बाकि पूरी धरती के लिए तकरीबन एक साल और लगेगी, तो 2021 के अंत तक शायद सबको स्टरलिंक का इंटरनेट मिल जाएगा।

तो भारत के लोगो को स्टरलिंक के इंटरनेट के लिए 2021 के अंत तक इंतज़ार करना पड़ेगा। जैसा की Covid-19 की वजह से सब बिज़नेस को थोड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ा है, तो उसकी वजह से कुछ महीने की देरी हो सकती है। 

क्या स्टरलिंक का इंटरनेट ऑप्टिकल फाइबर से तेज होगा?

नही, अगर हम बेस्ट ऑप्टिकल फाइबर इंटरनेट प्लान की बात करे तो वो स्टरलिंक के इंटरनेट से तेज़ होगा। ऑप्टिकल फाइबर में दस गुना तक तेज़ इंटरनेट स्पीड आ सकती है स्टरलिंक की तुलना में।

पर अगर हम देखे तो भारत में इतना तेज़ ऑप्टिकल फाइबर बहुत ही काम जगह है। इतना तेज़ ऑप्टिकल फाइबर जायदातर गवर्नमेंट बिल्डिंग्स, बड़े टेक्नोलॉजी इंस्टीटूशन्स, और इसरो जैसे जगह पाया जाता है। इतना तेज़ ऑप्टिकल फाइबर इंटरनेट कभी भी आम लोगो के लिए उपलब्ध नहीं हो पाया। जो की स्टरलिंक के जरिये हमे जरूर उपलब्ध हो जायेगा।

क्या स्टरलिंक की सैटेलाइट्स दूसरी सैटेलाइट्स और डेब्रिस से नहीं टकराएंगी?

जी नहीं, ऐसा कभी नहीं होगा। ऐसा इसलिए नहीं होगा क्यूंकि स्टरलिंक की सॅटॅलाइट को यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ़ डिफेन्स से दूसरी सॅटॅलाइट और डेब्रिस के बारे में जरूरी जानकारी अपने आप पहुँच जाएँगी।

जरुरी जानकारी मिलते ही स्टरलिंक की सॅटॅलाइट अपने आप खुद की पोजीशन थोड़ी एडजस्ट कर लेगी। स्टरलिंक की सॅटॅलाइट के अंदर आयन प्रोपल्शन सिस्टम्स (Ion  Propulsion System) लगे है जिसकी मदद से इधर उधर हो पाएंगे।

स्टारलिंक के क्या फायदे है?

स्टरलिंक के बहुत ही जायदा फायदे होने वाले है। हमारी दुनिया एक नए तरह से जुड़ जाएगी। सब लोगो को एकदम बेस्ट सुविधा और जानकारी मिल पायेगी इंटरनेट से। स्टरलिंक के कुछ फायदे मैं नीचे बता रहा हूँ, जरूर पढ़े।

  • जैसा ही हम अभी देखते है हाई स्पीड इंटरनेट कुछ ही लोगो के पास है क्यूंकि पूरा इंफ्रास्ट्रक्चर बना हुआ है और ऐसे ही ऑप्टिकल फाइबर बिछाना बहुत मुश्किल हो जाता है। जिसकी वजह से बस पॉश या नए बने इलाको में ही ऑप्टिकल फाइबर इंटरनेट पहुँच पाटा है। लेकिन स्टरलिंक के इंटरनेट के जरिये अब तेज़ इंटरनेट कहीं भी पहुंचाया जा सकता है।
  • इसकी स्पीड अभी मिलने वाली स्पीड से बहुत जायदा होगी। आप आसानी से मूवीज देख सकते है बिना बुफ्फेरिंग के, गेम खेल सकते है बिना अटके, और बड़ी बड़ी फाइल सेकण्ड्स में अपलोड और डाउनलोड कर सकते है।
  • इसके जरिये इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स साकार हो पायेगा। इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स एक कांसेप्ट है जिसमे दुनिया की सब चीज़ो को इंटरनेट से जोड़ दिया जायेगा। ये हमारी पूरी दुनिया बदल देगा।
  • बहुत सारी कम्पनिया स्पेस में होटल बना रही है, ऐसे में उनको पृथ्वी से जोड़ने के लिए इंटरनेट की जरुरत पड़ेगी। अब हम उन होटल्स को आसानी से धरती से जोड़ पाएंगे इंटरनेट की मदद से। मतलब  कुछ सालो में आप स्पेस में स्काइप और फेसटाइम कर पाएंगे।

स्टारलिंक से क्या नुक्सान हो सकते है?

वैसे तो स्टरलिंक से शायद ही हमे कोई नुक्सान हो। लेकिन कुछ नुक्सान जिनके होने की ना के बराबर सम्भावना हो सकती है मैंने नीचे बातये है। अगर आप भी कुछ सोच पाए तो हमे नीचे कमेंट में जरूर बताये।

  • स्पेस में अभी ही इतना जयदा डेब्रिस (कूड़ा) है, भविस्य में इतनी सारी सैटेलाइट्स एक बड़ी दिक्कत बन सकती है। ये धरती के चारो तरफ इतनी तेज़ घूमता है की इसको पकड़ के जमा करना भी एक बड़ी मुश्किल बन जाती है। हालाँकि स्टारलिंक ने बोला है की वो स्पेस में कोई भी डेब्रिस नहीं होने देंगे। 
  • जब एक ऐसा सिस्टम होगा की सब चीज़े आपस में कनेक्टेड होएंगी तो प्राइवेसी और सिक्योरिटी एक मेजर प्रॉब्लम बन सकती है। हैकिगं और मैलवेयर अटैक्स बहुत जायदा बढ़ जायेंगे।

आज क्या ज्ञान पाया

तो आज हमने जाना की  स्टारलिंक क्या है? हमने आपको ये भी बताया की कैसे स्टरलिंक का इंटरनेट दुनिया को एक नयी दिशा की तरफ ले जायेगा। चीज़ो को इंटरनेट से जोड़ना बहुत ही आसान हो जायेगा। 

अगर आपको किसी भी तरह की दिक्कत आ रही हो तो हमे नीचे कमेंट में जरूर बताये। हम आपके प्रशन का जल्द से जल्द उत्तर देने का प्रयास करेंगे और आपकी सहायता करना चाहएंगे।

तो दोस्तों अगर आपको हमारी पोस्ट - स्टारलिंक क्या है, अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ Share जरूर करे। इससे आपके दोस्तों को भी कुछ अच्छा सीखने को मिलेगा। भविस्य में ऐसे आर्टिकल पढ़ते रहने के लिए हमारे ब्लॉग को Follow जरूर करे।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें